समाचार
हुंडई 3,200 करोड़ रुपये के निवेश से भारत में बनाएगी सस्ती इलेक्ट्रिक कार, जानें योजना

इलेक्ट्रिक वाहन विभाग पर ध्यान केंद्रित करते हुए अगले चार वर्षों में दक्षिण कोरियाई ऑटोमोबाइल कंपनी हुंडई की भारत में 3,200 करोड़ रुपये के निवेश की योजना है। घरेलू वाहनों में 17 प्रतिशत बाज़ार भागीदारी के साथ हुंडई ने भारत में 25 वर्ष पूरे कर लिए हैं।

कंपनी का मानना है कि भावी वृद्धि इलेक्ट्रिक वाहनों के क्षेत्र में निहित है। 1,000 करोड़ रुपये का निवेश सस्ती, स्थानीय रूप से विकिसत इलेक्ट्रिक कार पर होगा। इलेक्ट्रिक्स को स्थानीय रूप से विकसित करने की योजना पर भी कंपनी काम कर रही है, द इकोनॉमिक टाइम्स ने रिपोर्ट किया।

अपने समूह की कंपनी किया के साथ भी हुंडई साझेदारी कर सकती है। “हम ऐसे समाधान लाना चाहते हैं जो सस्ते और उचित हों। हम इस क्षेत्र में कई अध्ययनों पर काम कर रहे हैं क्योंकि हमारा मानना है कि भविष्य में हमारे क्रियान्वयन का प्रमुख स्तंभ इलेक्ट्रिक ही होगा।”, एमडी एसएस किम ने कहा।

कंपनी ने उजागर नहीं किया है कि जिस इलेक्ट्रिक वाहन की योजना है, वह किस श्रेणी का होगा लेकिन विशेषज्ञों का मानना है कि यह मिनी एसयूवी श्रेणी का होगा क्योंकि बाज़ार में यही प्रचलित है। इससे पहले समाचार आया था कि स्वचालित इलेक्ट्रिक कार के लिए हुंडई ऐप्पल के साथ समझौता करेगी।