समाचार
5जी परीक्षणों के लिए सरकार ने हुआवे को दी मंजूरी, अगले महीने होगी शुरुआत

सूत्रों के मुताबिक चीनी प्रौद्योगिकी प्रमुख हुआवे को राहत प्रदान करते हुए भारत सरकार ने चीनी कंपनी को भारत में 5जी परीक्षणों में भाग लेने की अनुमति दे दी है।

मामले के जानकार लोगों ने आगे कहा कि 5जी परीक्षणों की शुरुआत अगले महीने से होगी।

सरकार से मिली मंजूरी हुआवे के लिए बड़ी राहत लेकर आई है क्योंकि इस बात को लेकर अटकलें लगाई जा रही थी कि क्या 5जी परीक्षणों में कंपनी को अनुमति दी जाएगी क्योंकि हुआवे वैश्विक स्तर पर जाँच का सामना कर रही है।

इस नए घटनाक्रम पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए हुआवे भारत के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) जे चेन ने कहा, “हम भारत सरकार को हुआवे में उनके निरंतर विश्वास के लिए धन्यवाद देते हैं। हम दृढ़ता से मानते हैं कि केवल प्रौद्योगिकी नवाचार और उच्च गुणवत्ता वाले नेटवर्क भारतीय दूरसंचार उद्योग में नई ऊर्जा का संचार करने के लिए महत्वपूर्ण होंगे।”

“हमें भारत में 5जी के संचालन के लिए मोदी सरकार पर  पूरा भरोसा है। हमें भारत सरकार और उद्योग पर पूरा भरोसा है कि वें भारत के दीर्घकालीन लाभ के लिए और पार उद्योग विकास के लिए सर्वोत्तम प्रौद्योगिकी के साथ ही भागीदार बनेंगे। हम हमेशा भारत के लिए प्रतिबद्ध है।”, सीईओ ने आगे कहा।

केंद्रीय दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने सोमवार को कहा था कि सरकार सभी दूरसंचार कंपनियों को 5जी स्पेक्ट्रम देगी।

दूरसंचार विभाग (डॉट) सभी दूरसंचार सेवा प्रदाताओं को परीक्षण हेतु स्पेक्ट्रम प्रदान करेगा। ये सभी संचालक अपने साथी विक्रेताओं को चुन सकते हैं।

5जी परीक्षण के लिए मिली मंजूरी, व्यावसायिक रूप से बिक्री के लिए अनुमोदन का आश्वासन बिल्कुल नहीं देता।

इससे पहले इसी महीने डॉट ने अगले स्पेक्ट्रम नीलामी के लिए कीमतों को मंजूरी दी थी।

डॉट की सर्वोच्च नीति बनाने वाली डिजिटल संचार आयोग (डीसीसी) ने 20 दिसंबर को भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने मार्च-अप्रैल से देश में होने वाली स्पेक्ट्रम नीलामी को मंजूरी दी थी।