समाचार
वॉट्सैप की सिग्नल और टेलीग्राम से प्रतिस्पर्धा के बीच स्वदेशी हाइक मैसेजिंग ऐप बंद

टेनसेंट, टाइगर ग्लोबल और सॉफ्टबैंक द्वारा समर्थित देश में विकसित हाइक मैसेंजर ने अपने मैसेजिंग ऐप स्टीकर-चैट को उस समय बंद कर दिया, जब वैश्विक मैसेंजर एप्लिकेशन क्षेत्र में वॉट्सैप और उसके प्रतिद्वंद्वियों सिग्नल और टेलीग्राम के बीच प्रतिस्पर्धा देखी जा रही थी।

टेक क्रंच की रिपोर्ट के अनुसार, हाइक के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी कविन मित्तल ने ट्विटर पर कहा, “जब तक भारत सरकार पश्चिमी कंपनियों पर प्रतिबंध नहीं लगाती है, तब तक वैश्विक मंचों के मजबूत नेटवर्क प्रभाव के कारण भारत का अपना संदेश मंच नहीं होगा।”

सिग्नल और टेलीग्राम के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, “दोनों बहुत अच्छे हैं। संस्थाओं के रूप में फेसबुक उत्पादों के विपरीत उनके पास सही प्रोत्साहन (उपभोक्ताओं के साथ गठबंधन) है।” वॉट्सैप की गोपनीयता नीति अपडेट को लेकर चिंता के बीच दोनों मंचों ने हाल ही में लाखों लोगों को आकर्षित किया है।

भारती एयरटेल के प्रमुख सुनील मित्तल के बेटे कविन ने हाइक की स्थापना की थी। मैसेंजर ऐप ने 2016 में अपने मूल्याँकन को 1.4 बिलियन डॉलर के उच्च स्तर पर देखा था।

यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि स्टीकर-चैट बंद होने के बीच हाइक मैसेंजर ने इस महीने की शुरुआत में वाइब और रश नामक दो वर्चुअल सोशल मंचों को लोकप्रिय करने के प्रयास शुरू कर दिए थे।