समाचार
गृह मंत्रालय ने आतंकवादियों पर निगरानी रखने के लिए बनाई ‘स्पेशल 44’ टीम

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने आतंकी गतिविधियों में शामिल लोगों पर बड़ी कार्रवाई करने के लिए यूएपीए संशोधन विधेयक के नए कानून के तहत दर्ज मामलों पर कार्रवाई करने को एक नई टीम बनाई है। इसे स्पेशल 44 नाम दिया गया है।

न्यूज़-18 ने मंत्रालय के सूत्रों के हवाले से कहा कि भारत में आतंक फैलाना या आतंक में लिप्त पाए जाने वाले सभी लोगों की संपत्तियों पर ये टीम निगरानी रखेगी।

इस टीम के स्पेशल 44 अधिकारियों में खुफिया विभाग (आईबी), वित्तीय आसूचना इकाई (एफआईयू), भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई), गृह मंत्रालय, सेबी, राज्यों की एटीएस, सीआईडी सहित दूसरे विभाग शामिल होंगे। ये अधिकारी उन लोगों पर नज़र रखेंगे, जिनके खिलाफ यूएपीए कानून के तहत मामला दर्ज किया गया था।

सूत्रों के मुताबिक, 44 अधिकारियों को विदेश मंत्रालय यूएन में आतंकी घोषित हुए लोगों की सूची देगी। इसको गृह मंत्रालय राज्यों से साझा करेगी। ये अधिकारी गृह मंत्रालय और राज्यों के साथ समन्वय स्थापित करेंगे।

बता दें कि अब तक यूएपीए कानून के तहत दाऊद इब्राहिम, मसूद अज़हर, ज़ाकिर-उर-रहमान लखवी और हाफिज सईद को आतंकवादी घोषित किया है। साथ ही नौ खालिस्तानी आतंकियों को व्यक्तिगत तौर पर आतंकी घोषित किया है।