समाचार
उमर खालिद के खिलाफ मुकदमा चलाने की गृह मंत्रालय और दिल्ली सरकार ने दी मंजूरी

दिल्ली में नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को लेकर हुए दंगों की साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार जेएनयू के पूर्व छात्र नेता उमर खालिद के खिलाफ यूएपीए के तहत मुकदमा चलाने की अनुमति मिल गई है।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, मुकदमा चलाने की स्वीकृति गृह मंत्रालय और दिल्ली सरकार की ओर से दी गई है। दिल्ली पुलिस को करीब एक हफ्ते पहले इसकी मंजूरी मिली है।

उम्मीद की जा रही है कि पुलिस उमर खालिद और शरजील इमाम के खिलाफ यूएपीए के तहत न्यायालय में आरोप पत्र दाखिल करेगी। खालिद को खजूरी खास क्षेत्र से एक अक्टूबर को गिरफ्तार किया गया था।

बता दें कि खालिद के वकील ने न्यायालय से दर्ज एफआईआर, पुलिस हिरासत के लिए आवेदन, रिमांड ऑर्डर और मेडिकल रिपोर्ट की प्रतियाँ देने के लिए निर्देश देने का आग्रह किया था। वकील का कहना था कि मेरे मुवक्किल को किन आरोपों के तहत हिरासत में लिया गया, यह जानना बेहद आवश्यक है।

विशेष लोक अभियोजक मनोज चौधरी ने इसका विरोध करते हुए कहा था, “न्यायालय द्वारा संज्ञान लेने से पहले आरोपी को कार्रवाई की प्रतियाँ देने का कोई प्रावधान नहीं है। खालिद को उनकी गिरफ्तारी के बारे में बता दिया गया है।”