समाचार
पश्चिम बंगाल के मुस्लिम बहुल रायगंज में हिंदुओं को नहीं डालने दिया वोट- रिपोर्ट

लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में पश्चिम बंगाल में रायगंज क्षेत्र के मुस्लिम बहुल इलाकों में हिंदू समुदाए के कुछ लोगों को वोट देने से ही रोक दिया गया। उनके नाम पर पहले से ही वोट डाल दिए गए। यह दावा मौके पर मौजूद टाइम्स नाऊ  के रिपोर्टर का है।

टाइम्स नाऊ  के रिपोर्टर के अनुसार, रायगंज निर्वाचन क्षेत्र के मुस्लिम बहुल इलाके मोधोफुलबरी में पूछताछ की तो जानकारी मिली कि वहां के हिंदू निवासी वोट ही नहीं डाल पा रहे हैं। एक मतदाता ने दावा किया कि वह जब मतदान केंद्र गया तो बूथ के लोगों ने उसे वोट डालने से रोकने के लिए पीटा।

रिपोर्टर ने जब बूथ नंबर 191 पर मतदान अधिकारी से इस बाबत जानकारी ली तो उसने किसी तरह के विवाद और हंगामे की बात से इनकार कर दिया। जब यह बात हो रही थी तो पास में खड़े एक मतदाता ने शिकायत की कि उसका वोट पहले से डाला जा चुका है।

छद्म वोट पड़ने की शिकायत को लेकर मतदान अधिकारी से और सवाल किए गए तो उसने नाराज होते हुए सारे आरोपों को बेबुनियाद बताया। अधिकारी ने कहा, “मुझे इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि वो लोग कौन हैं, जिसने वोट डाले हैं।”

उसी वक्त फिर से एक और मतदाता ने जब अपना वोट पड़ने की बात कही तो पीठासीन अधिकारी के पास देने को कोई जवाब नहीं बचा था। सबसे ज्यादा चौंकाने वाली बात यह थी कि उस बूथ पर सिर्फ तृणमूल कांग्रेस का ही एक एजेंट मौजूद था। अब सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि क्या चुनाव आयोग इस मामले को देखकर कार्रवाई करता है कि नहीं?