समाचार
केन्या का चीन को झटका, सीआरबीसी का 3.2 अरब डॉलर का रेलवे अनुबंध अवैध घोषित

चीन की वन बेल्ट वन रोड (ओबीओआर) पहल जिसे कइयों ने साम्राज्यवादी परियोजना के रूप में करार दिया है। अब उसे केन्या की तरफ से करारा झटका लगा है। दरअसल, केन्या की अदालत ने दायर याचिका पर सुनवाई कर चीन के 3.2 अरब डॉलर के रेलवे अनुबंध के लिए सड़क और पुल निगम (सीआरबीसी) को अवैध घोषित करार दिया है।

एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, अदालत ने उच्च न्यायालय के फैसले की समीक्षा करते हुए कहा, “केन्या रेलवे ने 3.2 बिलियन डॉलर की चीनी वित्त पोषित स्टैंडर्ड गेज रेलवे (एसजीआर) परियोजना की खरीद में देश के कानून का उल्लंघन किया, जो कि बेल्ट रोड इनिशिएटिव के तहत आता है।”

2014 में जिस परियोजना को सम्मानित किया गया था। उसके कार्यकर्ताओं ने विरोध करते हुए आरोप लगाया था कि यह एक निष्पक्ष, प्रतिस्पर्धी और पारदर्शी खरीद प्रक्रिया के अधीन नहीं हुआ था।

इस परियोजना के तहत चीन के एक्जिम बैंक ने मोम्बासा से नैरोबी तक एक रेलवे लाइन के निर्माण के लिए 1.6 अरब डॉलर के दो ऋणों को स्वीकृति दी, जिसे बाद में नैवाशा तक बढ़ा दिया गया।

2017 में मार्ग के एक बड़े हिस्से को चालू करने के बाद अफ्रीका स्टार रेलवे ऑपरेशन कंपनी, जो चीनी सीआरबीसी की सहायक कंपनी है को संचालन का प्रबंधन करने के लिए अनुबंध से सम्मानित किया गया था।