समाचार
मुलायम सिंह पर आईपीएस को धमकाने का मामला, उच्च न्यायालय ने जारी किया नोटिस

अलाहबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ बेंच ने सोमवार (15 अप्रैल) को उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा के नेता मुलायम सिंह यदव को नोटिस दिया है। उच्च न्यायालय ने यह नोटिस आईपीएस अमिताभ ठाकुर को चार साल पहले धमकाने के आरोप में दिया है। मामले की अगली सुनवाई 4 मई को होगी।

न्यायाधीश शशिकांत की पीठ ने अमिताभ ठाकुर द्वारा जारी की गई याचिका के आधार पर दिया है। मुलायम सिंह यादव पर आरोप है कि 10 जुलाई 2015 को उन्होंने आईपीएस अमिताभ ठाकुर को फ़ोन पर धमकी दी थी। पुलिस ने इस मामले पर जांच करने के बाद सपा नेता मुलायम सिंह को आरोप मुक्त कर दिया था। इसके बाद अमिताभ ने न्यायालय की अंतिम रिपोर्ट का विरोध किया था।

हालाँकि लखनऊ मुख्य न्यायिक मेजिस्ट्रेट ने पुलिस द्वारा पेश की गई अंतिम रिपोर्ट को ख़ारिज कर मामले को शिकायत के रूप में दर्ज करने का आदेश दिया था। अमिताभ ने सीजेएम के आदेश का विरोध कर कहा कि इस मामले को पुलिस केस के  रूप में दर्ज किया जाना चाहिए क्योंकि सभी सबूत मुलायम सिंह के खिलाफ हैं।

11 जुलाई 2015 को अमिताभ द्वारा एफआईआर दर्ज की गई थी जिसमे उन्होंने बताया था कि सपा नेता उन्हें फ़ोन कर के धमकियाँ देते हैं और अमिताभ ने इस बात का सबूत एक फ़ोन रिकॉर्डिंग के रूप में पेश किया था। आईपीएस ने बताया कि उनकी पत्नी द्वारा राज्य की तत्कालीन मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति के खिलाफ उनकी पत्नी नूतन ने शिकायत दर्ज की थी जिस से मुलायम सिंह नाखुश थे।