समाचार
हरियाणा भी लाएगा जव जिहाद पर शीघ्र कानून, योगी सरकार के निर्णय का किया स्वागत

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के लव जिहाद पर अध्यादेश लाने के फैसले का हरियाणा सरकार ने स्वागत किया है। राज्य के एक मंत्री ने बुधवार (25 नवंबर) को ट्वीट किया, “शीघ्र ही हरियाणा सरकार भी इस पर कानून बनाएगी।”

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, हरियाणा सरकार के मंत्री अनिल विज ने ट्वीट करके कहा, “उत्तर प्रदेश में लव जिहाद के गुनहगारों पर कार्रवाई के लिए योगी कैबिनेट ने इस कानून पर अंतिम मुहर लगा दी है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जिंदाबाद। हरियाणा भी लव जिहाद पर शीघ्र कानून बनाएगा।”

मध्य प्रदेश सरकार भी लव जिहाद पर कानून लाने की तैयारी में जुटी है। उनके अगले विधानसभा का शीतकालीन सत्र 28 दिसंबर से शुरू होगा, जो 30 दिसंबर तक चलेगा। इस दौरान शिवराज सिंह चौहान सरकार लव जिहाद पर अध्यादेश पेश करेगी।

बता दें कि मंगलवार (24 नवंबर) को राज्य कैबिनेट की बैठक में योगी आदित्यनाथ सरकार ने उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश-2020 के मसौदे को स्वीकृति दी। अब मसौदे को राज्यपाल के पास भेजा जाएगा, जहाँ से स्वीकृति मिलने के बाद यह प्रभावी हो जाएगा।

योगी सरकार के प्रवक्ता ने बताया, “नियमों के उल्लंघन पर कम से कम एक वर्ष और अधिकतम पाँच वर्ष की सज़ा और 15 हजार रुपये जुर्माने का प्रावधान है। किसी अवयस्क महिला, अनुसूचित जाति, जनजाति की महिला के संबंध में नियमों का उल्लंघन करने पर करीब 3 साल और अधिकतम दस साल की सज़ा होगी।”

किसी एक से दूसरे धर्म में लड़की के परिवर्तन के एक मात्र प्रयोजन के लिए किया गया विवाह शून्य की श्रेणी में आएगा। जबरन, मिथ्या, बलपूर्वक, प्रलोभन व उत्पीड़न कर किया गया धर्मपरिवर्तन गैरज़मानती अपराध होगा। यह अपराध संज्ञेय होगा और प्रथम श्रेणी के मजिस्ट्रेट के न्यायालय में उसकी सुनवाई होगी।