समाचार
मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा, “हरियाणा में भी लागू किया जाएगा एनआरसी”

असम के बाद हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने रविवार को घोषणा की, “उनके राज्य में भी राष्ट्रीय नागरिक पंजीकरण लागू (एनआरसी) किया जाएगा।”

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने पंचकूला में न्यायमूर्ति (सेवानिवृत) एचएस भल्ला और पूर्व नौसेना प्रमुख सुनील लाम्बा से उनके आवासों पर मुलाकात करने के बाद संवाददाताओं से कहा, ”हम हरियाणा में एनआरसी लागू करेंगे।”

खट्टर ने अक्टूबर में राज्य चुनावों से पहले अपनी पार्टी के “महासंपर्क अभियान” के तहत उनसे भेंट की। उन्होंने पहले भी देशभर में एनआरसी को लागू करने का समर्थन किया था। उच्च न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश न्यायमूर्ति भल्ला से मिलने के बाद खट्टर ने कहा, “मैं उनसे महासंपर्क अभियान के तहत मिला, जहाँ हम प्रमुख नागरिकों से मिलते हैं।”

उन्होंने कहा, “जब हम मिलते हैं तो इस बात पर चर्चा होती है कि देश को कैसे आगे ले जाना है। इसी तरह के कई अन्य मुद्दे भी होते हैं। न्यायमूर्ति भल्ला ने अपनी सेवानिवृत्ति के बाद कई कार्यभार संभाले हैं। वह एनआरसी में भी काम कर रहे हैं और जल्द ही असम का दौरा करेंगे। मैंने उनसे कहा कि हम हरियाणा में एनआरसी को लागू करेंगे और भल्ला जी का समर्थन व सुझाव मांगेंगे।”

एनआरसी अपडेट की प्रक्रिया 2013 में सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बाद असम में शुरू की गई थी। तब से अदालत ने पूरी प्रक्रिया की बारीकी से निगरानी की थी। हालाँकि, पूर्वोत्तर राज्य में भाजपा सहित कई राजनीतिक दलों ने अंतिम दस्तावेज के साथ असंतोष व्यक्त किया है।

मुख्यमंत्री खट्टर ने यह भी कहा, “हरियाणा सरकार एक विधि आयोग स्थापित करने पर विचार करेगी। न्यायमूर्ति भल्ला ने सुझाव दिया है कि हरियाणा में एक विधि आयोग का गठन किया जाना चाहिए। सरकार इस आयोग की स्थापना की व्यवहार्यता पर ध्यान देगी।”