समाचार
सबरीमाला- राज्य भर में हड़ताल, बसों में तोड़-फोड़, सचिवालय पर हिंसात्मक विवाद

40 वर्ष की आयु के आसपास की दो महिलाओं द्वारा सबरीमाला मंदिर में प्रवेश से केरल में तनाव का वातावरण है। सबरीमाला कर्मा समिति ने राज्य भर में सुबह छः बजे से शाम छः बजे तक हड़ताल घोषित कर दी है।

राज्य के सचिवालय में हिंसात्मक घटनाओं को फाइनेन्शियल एक्सप्रेस  ने रिपोर्ट किया है। यह तब हुआ जब भाजपा की महिला ईकाई, महिला मोर्चा ने मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन के साथ बैठक की माँग को लेकर सचिवालय के बाहर प्रदर्शन किया। लेकिन बात तब बिगड़ गई जब सीपीआई (एम) और भाजपा समर्थकों ने एक-दूसरे पर पत्थर बरसाने शुरू कर दिए। भीड़ पर काबू पाने के लिए पुलिस को पानी के केनन और आँसू गैस का प्रयोग करना पड़ा।

राज्य के अन्य क्षेत्रों जैसे मलप्पुरम में भी प्रदर्शन हुआ जहाँ विजयन का पुतला जलाया गया। पथानामाथिट्टा जिले (जहाँ सबरीमाला स्थित है) में राज्य परवहन निगम की कई बसों में तोड़-फोड़ भी की गई।

विपक्षी पार्टियों- भाजपा और कांग्रेस ने इस कृत्य की निंदा की जिससे सबरीमाला की सदियों पुरानी प्रथा का अपमान हुआ है। उन्होंने विजयन पर हमला करते हुए कहा कि उनके कारण ही यह हुआ है और राज्य भर में प्रदर्शन करने की चेतावनी दी।