समाचार
मौलवी द्वारा चलाया जा रहा था भारत का आईएसआईएस मोड्युल, एनआईए को मिले हथियार

26 दिसंबर को दिल्ली तथा उत्तर प्रदेश से राष्ट्रीय जाँच संस्था (एनआईए) ने 10 संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया है। इन लोगों को आईएसआईएस से प्रभावित नए आतंकवादी संगठन हरकत-उल-हर्ब-ए-इस्लाम में भागीदारी की आशंका के चलते गिरफ्तार किया गया है। यह संगठन उत्तर भारत मुख्यत: दिल्ली में हमले की साजिश कर रहा था, टाइम्स ऑफ इंडिया  की रिपोर्ट में बताया गया।

रिपोर्ट के अनुसार यह संगठन एक मस्जिद के मौलवी मुफ्ती सुहेल द्वारा एक विदेशी आका के निर्देशन में संचालित किया जा रहा था।

एनआईए ने कार्यवाही के दौरान 16 लोगों से पूछताछ की और 10 को हिरासत में लिया। इनमें से पाँच को उत्तर प्रदेश के अमरोहा से तथा पाँच को उत्तर-पूर्वी दिल्ली से दिल्ली पुलिस के विशेष दल की सहायता से हिरासत में लिया गया।

एनआईए महानिरीक्षक आलोक मित्तल ने कहा कि संस्था ने दिल्ली के सीलमपुर और उत्तर प्रदेश के अमरोहा, हापुड़, मेरठ तथा लखनऊ की 17 जगहों पर तलाशी ली थी। यह आतंकवादी संगठन सिलसिलेवार रिमोट कंट्रोल धमाके तथा फिदायीनी हमले की साजिश कर रहा था। इस संगठन में 20 साल से 30 साल के बीच की उम्र वाले युवक थे जो सभी मध्यम-वर्गीय परिवारों से हैं।

यह राजनेताओं तथा वीआईपी लोगों को निशाना बनाना चाहता था तथा भीड़ वाले सार्वजनिक स्थलों और सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर हमले करना चाहता था।

एनआईए ने बड़ी संख्या में हथियार, गोला-बारूद, विस्फोटक तथा एक देसी रॉकेट लांचर बरामद किए हैं। साथ ही लेपटॉप, मेमोरी कार्ड, 135 सिम कार्ड लगभग 100 मोबाइल और 7.5 लाख रुपए नगद भी बरामद किए हैं।

तीन-चार महीने पहले बने इस संगठन पर एनआईए ने नज़र रखी हुई थी तथा अभी भी खोज जारी है।