समाचार
“बिना प्रस्ताव के केजरीवाल की महिलाओं को मुफ्त सफर घोषणा”- केंद्रीय मंत्री पुरी

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने गुरुवार (6 जून) को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की महिलाओं को बसों और मेट्रो में मुफ्त सफर योजना पर प्रहार करते हुए कहा कि केजरीवाल ने केंद्र सरकार को कोई प्रस्ताव दिए बिना ही घोषणा कर दी है जबकि दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (डीएमआरसी) में केंद्र सरकार का भी 50 प्रतिशथ स्वामित्व है।

“केजरीवाल को अलग प्रकार की परेशानी है। उन्होंने पूरे पेज के प्रचार छपवा दिए हैं कि अगले दो-तीन माहों में यह योजना चालू हो जाएगी लेकिन इसके लिए कोई प्रस्ताव नहीं दिया है।”, लाइवमिंट  की रिपोर्ट में पुरी ने कहा।

वे आगे कहते हैं, “कोई भी योजना ऐसी नहीं होनी चाहिए कि पहले घोषणा हो जाए और प्रस्ताव बाद में बने।” आप पर प्रहार करते हुए पुरी ने कहा, “कोई उनसे (आप) पूछे कि 11,000 आवंटित बसों में से दिल्ली में कितनी बसें चलती हैं।”

वर्तमान में दिल्ली में 5,400 बसें चलती हैं जिसमें से 3,700 डीटीसी चलाती है। कोर्ट के निर्देश अनुसार दिल्ली में कम से कम 11,000 बसें होनी चाहिए।

“हम दिल्ली की समस्या का हल निकालेंगे। केवल अगले छह माह तक ही परेशानी रहेगी। ये लोग लोकसभा चुनावों में तीसरे स्थान पर आए हैं। ये खाली व्यवधान उत्पन्न करते हैं।”, बिना प्रस्ताव के घोषणा करने पर पुरी ने दिल्ली सरकार पर निशाना साधा।

पुरी के कथन पर प्रतिक्रिया देते हुए दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली सरकार के पास ठोस योजना है और कोष की भी कमी नहीं है।