समाचार
“एयर इंडिया के पूर्ण निजीकरण की प्रक्रिया मई के अंत तक पूरी होगी”- हरदीप सिंह पुरी

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने शनिवार (27 मार्च) को घोषणा की कि एयर इंडिया के निजीकरण की प्रक्रिया मई के अंत तक पूरी कर ली जाएगी। अब सरकार इसकी 100 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने के लिए खरीदार तलाशने में लगी है।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, हरदीप सिंह पुरी ने कहा, “सरकार के पास उसके पूर्ण निजीकरण या उसे बंद करने का ही विकल्प मौजूद है। निजीकरण होने तक इसे जारी रखना होगा। एयर इंडिया पहली दर संपत्ति है लेकिन इस पर 60,000 करोड़ रुपये का ऋण हो गया है। हमें ऋण का बोझ समाप्त करना होगा।”

इससे पूर्व, केंद्रीय मंत्री ने शुक्रवार को कहा था, “हम एयर इंडिया के निजीकरण की नई समयसीमा पर विचार कर रहे थे। बोली लगाने वालों के लिए अब सूचना संग्रह खोल दिया गया है। वित्तीय बोलियों के लिए 64 दिन का समय होगा। उसके बाद निर्णय लिया जाएगा कि किसे एयरलाइन हस्तांतरित की जाए।”

उन्होंने बताया, “एयर इंडिया अब कमाई कर रही है लेकिन अब भी प्रतिदिन 20 करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है। कुप्रबंधन की वजह से इसका कुल कर्ज 60,00 करोड़ रुपये हो गया है। मेरी इतनी क्षमता नहीं कि मैं बार-बार निर्मला जी के पास जाऊँ और कहूँ कि मुझे कुछ पैसा दे दीजिए।”