समाचार
हनुमान चालीसा बाँटने से वीएचपी को रोका, बाइबल-कुरान का उदाहरण देने पर बनी बात

रविवार (9 फरवरी) को 44वें अंतर्राष्ट्रीय कोलकाता पुस्तक मेले में पुलिस ने विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) के कार्यकर्ताओं को दर्शनार्थियों को हनुमान चालीसा बाँटने से रोका और उनकी स्टॉल बंद करवाया, न्यूज़ 18 ने रिपोर्ट किया।

ध्यान देने वाली बात यह है कि कोलकाता विश्वविद्यालय के कई छात्र सीएए और एनआरसी विरोधी नारे वीएचपी के स्टॉल नंबर 370 के बाहर लगा रहे थे और तख्ते लेकर कोलकाता पुस्तक मेले में रैली भी निकाली जहाँ पहले से ही पर्याप्त भीड़ थी।

शाम को जब वीएचपी का एक स्टॉल दर्शानार्थियों को मुफ्त में हनुमान चालीसा बाँटने लगा तो यही समूह इस बात का विरोध करने लगा और कुछ लोगों के अनुसार वीएचपी कार्यकर्ताओं और उनके बीच भिड़ंत भी हुई।

इसके बाद पुलिस ने इस धार्मिक पुस्तक के बाँटे जाने पर यह कहते हुए विरोध जताया कि यह लोगों को उकसाएगा जिससे कानून व्यवस्था बिगड़ा सकती है। इस बात पर वीएचपी कार्यकर्ताओं ने प्रश्न किया कि जब पुस्तक मेले में बाइबल व कुरान बाँटी जा सकती है तो हनुमान चालीसा क्यों नहीं।

वीएचपी कार्यकर्ता स्वरूप चटर्जी ने पीटीआई को बताया कि उनके द्वारा प्रश्न किए जाने पर पुलिस पीछे हट गई व उन्होंने यह वितरण चालू रखा।