समाचार
हाफिज़ सईद का बेटा जानलेवा बम धमाके में बचा, सात लश्कर समर्थक घायल, एक मृत

वैश्विक आतंकवादी और लश्कर-ए-तैयबा के संस्थापक हाफिज़ सईद का बेटा शनिवार (7 दिसंबर) को लाहौर के बाहरी इलाके में एक हत्या के प्रयास में बाल-बाल बचा।

फर्स्टपोस्ट की खबर के अनुसार एक बम हमले के रूप में हत्या का प्रयास लाहौर की एक मस्जिद में एक धार्मिक सभा में हुआ था जिसमें हाफिज सईद का बेटा तल्हा बच गया पर सात लश्कर समर्थक आतंकी इस हमले में गंभीर रूप से घायल हो गए और एक की मौत हो गई।

धमाका कितना भयानक रहा होगा इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि बमबारी ने फर्नीचर को भी नुकसान पहुँचा है और मेजों को पलट दिया है। घायल लोगों में से एक लश्कर के मूल संगठन, ‘जमात-उद-दावा’, का पत्रकार सह समर्थक बताया जा रहा है।

हाफिज़ सईद का बेटा धमाके के वक्त एक धार्मिक सभा को संबोधित कर रहा था और बमबारी के बाद उसे पास के अस्पताल ले जाया गया और उसकी चोटों का इलाज किया गया।

रिपोर्टों में दावा किया गया है कि यह हमला भारत के अनुसंधान और विश्लेषण विंग (रॉ) जैसी संस्था या खुफिया एजेंसियों के अंदर के प्रतिद्वंद्वी गुटों द्वारा कराया गया होगा।