समाचार
कर दर में कटौती के बावजूद जनवरी में जीएसटी संचय 1 लाख करोड़ रुपये पार

वित्त मंत्रालय ने गुरुवार (31 जनवरी) को बताया कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के द्वारा किया गया कर संचय जनवरी माह में 1 लाख करोड़ रुपये से ज़्यादा हुआ है। अप्रत्यक्ष कर की नई पद्धति में यह तीसरी बार हुआ है जब यह आँकड़ा 1 लाख करोड़ रुपये के पार गया है।

दिसंबर में जीएसटी परिषद की बैठक में लगभग 20 वस्तुओं और कई सेवाओं पर कर दर में कटौती की गई थी। वित्त मंत्रालय ने कहा कि ग्राहकों को राहत देने के लिए की गई कर कटौती के बावजूद कर संचय बढ़ा है।

“जनवरी माह में कुल जीएसटी संचय 1 लाख करोड़ का आँकड़ा पार कर गया है। यह पिछले माह के 94,725 करोड़ रुपये और पिछले साल के इसी माह के 89,825 करोड़ रुपये के संचय से कई अधिक है।”, वित्त मंत्रालय ने ट्वीट करके बताया।