समाचार
केंद्र ने किया भारतीयों के स्विस बैंकों में काले धन की वृद्धि वाली मीडिया रिपोर्टों का खंडन

केंद्र सरकार ने शनिवार (19 जून) को उन मीडिया रिपोर्टों का खंडन किया है, जिसमें कहा गया कि स्विस बैंकों में भारतीयों का धन 2019 के अंत में 6,625 करोड़ रुपये (89.9 करोड़ सीएचएफ) से बढ़कर 2020 के अंत में 20,700 करोड़ रुपये यानी अरब स्विस फ्रैंक (सीएचएफ) से अधिक हो गया है। यह दो वर्ष की गिरावट की प्रवृत्ति को परिवर्तित कर दे रहा है।

रिपोर्टों में आगे कहा गया है कि स्विट्जरलैंड में भारतीयों द्वारा जमा की गई राशि गत 13 वर्षों में उच्चतम स्तर पर पहुँच गई है।

वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा, “मीडिया रिपोर्ट इस तथ्य की ओर इंगित करती है कि रिपोर्ट किए गए आँकड़े बैंकों द्वारा स्विस नेशनल बैंक (एसएनबी) को बताए गए आधिकारिक आँकड़े हैं और स्विट्जरलैंड में भारतीयों द्वारा रखे गए कथित काले धन की मात्रा का संकेत नहीं देते हैं।”

इसके अतिरिक्त, इन आँकड़ों में वह धन शामिल नहीं है, जो भारतीयों, एनआरआई या अन्य लोगों के पास स्विस बैंकों में तीसरे देश की संस्थाओं के नाम पर हो सकता है।

मंत्रालय ने आगे कहा कि हालाँकि, 2019 के अंत से ग्राहकों की जमा राशि में वास्तव में गिरावट आई है। प्रत्ययी संस्थाओं के माध्यम से रखी गई धनराशि भी 2019 के अंत से आधी से अधिक हो गई है।