समाचार
कोविड-19 वैक्सीन लगने पर मिलेगा ई-प्रमाण-पत्र, डिजिलॉकर में सरकार रखेगी दस्तावेज़

कोविड-19 वैक्सीन के एक बार उपलब्ध होने के बाद सरकार टीकाकरण करवाने वाले सभी लोगों को डिजिटल प्रमाण-पत्र जारी करने की योजना बना रही है।

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, प्रत्येक व्यक्ति के लिए टीकाकरण की जानकारी सरकार के डिजीलॉकर में संग्रहीत की जाएँगी, जिसे सरकार दस्तावेजों को जारी करने, सत्यापित करने और क्लाउड पर प्रमाणित करने के लिए उपयोग करती है।

इसका लक्ष्य हासिल करने के लिए वैक्सीन पर सरकार के विशेषज्ञ समूह ने एक डिजिटल प्लैटफॉर्म की स्थापना करने की राय दी, ताकि वैक्सीनों की खरीद को जानने और वैक्सीन के उपयोग वाले व्यक्तियों का रिकॉर्ड रखा जा सके। इस विशेषज्ञ समूह को भारतीय और विदेशी निर्मित वैक्सीन के इंतजाम पर ध्यान देने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

वैक्सीन के दोहरे खुराक के मामले में यह प्रस्ताविक किया गया है कि लोगों को एक अस्थायी प्रमाण-पत्र जारी किया जाएगा, जिसमें उसमें दूसरी खुराक के लिए तिथि का उल्लेख होगा। सारे चरण की वैक्सीन लगने के बाद लोगों को अंतिम प्रमाण-पत्र जारी किया जाएगा।

लोग अपने प्रमाण-पत्र को स्मार्टफोन पर भी डाउनलोड कर पाएँगे। यह वैक्सीन लगने वाले व्यक्ति को कहीं भी यात्रा करने की अनुमति देगा, जिसमें इस बात की पुष्टि होगी कि उक्त व्यक्ति में कोविड-19 के फैलने या होने की कोई आशंका नहीं है।