समाचार
थिएटर कमांड के गठन पर व्यापक मंत्रणा हेतु तीनों सेनाओं के उप-प्रमुखों की समिति बनी

केंद्र सरकार ने भारतीय सशस्त्र बलों के नए थिएटर कमांड के गठन की दिशा में व्यापक मंत्रणा की सुविधा के लिए एक उच्चस्तरीय समिति का गठन किया। इसमें तीनों बलों के उप-प्रमुख और एकीकृत स्टाफ के प्रमुख से लेकर स्टाफ कमेटी के अध्यक्ष सम्मिलित हैं।

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, सुरक्षा मामलों की कैबिनेट समिति (सीसीएस) के समक्ष प्रस्तुत करने से पूर्व समिति को सभी तरह की मंत्रणा का काम सौंपा गया है। समिति के केंद्रीय गृह मंत्रालय और विदेश मंत्रालय जैसे बाहरी हितधारकों के साथ भी जुड़ने की अपेक्षा है, जो सैन्य थिएटर कमांड के निर्माण से प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावित होंगे।

रक्षा मंत्रालय के शीर्ष स्तरों पर प्रस्तावित थिएटर कमांड पर एक प्रस्तुति के बाद व्यापक मंत्रणा की आवश्यकता महसूस की गई। माना जाता है कि प्रस्ताव में अर्धसैन्य बलों को थिएटर कमांड में सम्मिलित करने का सुझाव भी था। वर्तमान में अर्धसैन्य बल केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधीन कार्य करते हैं।

वर्तमान सैन्य कमांडरों को नए थिएटर कमांड को संभालने के लिए सेवा विस्तार देने के सुझाव से उत्पन्न होने वाले मुद्दों पर विचार शेष है। इससे कमांडरों को एक नए पदानुक्रम में रखा जाएगा, जिससे उन्हें तीन उप-प्रमुखों की तुलना में उच्चस्तर दिया जाएगा।