समाचार
सोशल मीडिया मंचों से केंद्र ने कोरोना के ‘भारतीय प्रकार’ संबंधित सामग्री हटाने को कहा

केंद्र सरकार ने सभी सोशल मीडिया मंचों को पत्र लिखकर किसी भी ऐसी सामग्री को हटाने के लिए कहा है, जो नामों से या कोरोनावायरस के ‘भारतीय प्रकार’ से संबंधित है।

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, केंद्र सरकार ने यह कहते हुए कि कोविड का एसएआर-सीओवी-2 वायरस का ऐसा कोई प्रकार नहीं था, पत्र में कहा, “विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा वैज्ञानिक रूप से उद्धृत कोविड​​​​-19 का ऐसा कोई प्रकार नहीं है। उसने अपनी किसी भी रिपोर्ट में ‘भारतीय प्रकार’ शब्द को कोरोनावायरस के बी.1.617 संस्करण के साथ नहीं जोड़ा है।”

बता दें कि 11 मई को डब्ल्यूएचओ ने कहा था कि वह कोरोनावायरस के प्रकार बी.1.617 को वैश्विक चिंता के एक प्रकार के रूप में वर्गीकृत कर रहा है। इसकी पहचान सबसे पहले भारत में की गई थी।

इसके एक दिन बाद केंद्र सरकार ने बिना किसी आधार के ‘भारतीय प्रकार’ शब्द का उपयोग करने वाली मीडिया रिपोर्टों की निंदा की थी। साथ ही एक बयान जारी किया था क्योंकि डब्ल्यूएचओ ने उक्त संस्करण को बी.1.617 के रूप में पहचाना था।

केंद्र सरकार की ओर से सोशल मीडिया मंचों को पत्र केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा लिखा गया था।