समाचार
“सरकार खाते में जमा बीमा सुरक्षा सीमा धनराशि एक लाख से बढ़ाएगी”- वित्त मंत्री

निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को बताया, “भारत सरकार कानून लाकर बैंक में जमा धनराशि पर मिलने वाली बीमा सुरक्षा सीमा राशि एक लाख से बढ़़ाकर और अधिक करेगी। इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, भारत सरकार ने जमाकरता की मेहनत की कमाई को बचाने के लिए यह बड़ा कदम उठाया है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संवाददाताओं से बात करते हुए कहा, “भारत सरकार बैंक में जमा धनराशि पर मिलने वाली बीमा सुरक्षा सीमा धनराशि को बढ़ाने के लिए और सहकारी बैंकों के विनियमन के मुद्दे पर संसद के आने वाले शीतकालीन सत्र में प्रस्ताव पेश करने वाली है।”

सरकार ने यह कदम पंजाब एवं महाराष्ट्र सहकारी बैंक (पीएमसी) में हुए घोटाले और कुप्रबंधन के कारण लाखों जमाकर्ताओं को हुई दिक्कतों को ध्यान में रखते हुए लिया है। बता दें कि पिछले तीन दशक से बैंक खाते में जमा राशि पर मिलने वाली बीमा सुरक्षा सीमा धनराशि, जो कि एक लाख रुपये है, इसमें कोई भी बदलाव नहीं किया गया था।

एक लाख रुपये की यह सीमा 1993 में तय की गई थी, जब लोगों के खातों में इतनी अधिक धनराशि नहीं हुआ करती थी। भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा वित्तीय क्षेत्र सुधारों के लिए 2009 में गठित रघुराम राजन समिति ने जमा बीमा की क्षमता की मजबूती और क्रेडिट गारंटी निगम की सिफारिश की थी।