समाचार
केंद्र सरकार ने छोटे शहरों में स्टार्टअप के समर्थन के लिए ‘चुनौती’ प्रतियोगिता शुरू की

केंद्र सरकार ने शुक्रवार (28 अगस्त) को देश के छोटे शहरों की फर्मों पर विशेष ध्यान देने के साथ होमग्रोन स्टार्टअप्स और सॉफ्टवेयर उत्पाद कंपनियों को बढ़ावा देने के लिए एक प्रतियोगिता शुरू की।

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, केंद्र सरकार ने ‘चुनौती’ नाम से नेक्स्ट जनरेशन स्टार्टअप चैलेंज प्रतियोगिता शुरू की है। इसका लक्ष्य देश में चुनिंदा क्षेत्रों में काम करने वाले 300 स्टार्टअप की पहचान करना है। साथ ही प्रत्येक स्टार्टअप को 25 लाख रुपये का सीड फंड और अन्य सहायता दी जाएगी।

चुने गए स्टार्टअप के विकास की सुविधाएँ, संरक्षण, सुरक्षा परीक्षण सुविधाएँ, उद्यम पूँजीवाद धन तक पहुँच, उद्योग से जुड़ने के साथ कानूनी, मानव संसाधन (एचआर), आईपीआर और पेटेंट मामलों आदि में सलाह दी जाएगी।

केंद्र सरकार ने तीन वर्षों में इस योजना के लिए कुल 95 करोड़ रुपये रखे हैं। प्रतियोगिता शिक्षा-तकनीक, कृषि तकनीक, वित्त तकनीक, आपूर्ति शृंखला, रसद व परिवहन प्रबंधन, बुनियादी ढाँचा, दूरस्थ निगरानी जैसे क्षेत्रों में स्टार्टअप की पहचान करेगी।

प्रतियोगिता के तहत अन्य क्षेत्रों में चिकित्सा स्वास्थ्य सेवा, नैदानिक, निवारक एवं मनोवैज्ञानिक देखभाल के साथ रोजगार व कौशल, भाषाई उपकरण व प्रौद्योगिकियाँ आदि जैसे डोमेन शामिल हैं। यह योजना केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद द्वारा शुरू की गई थी।