समाचार
जीत के बाद स्मृति ईरानी 14 किमी नंगे पैर चलकर पहुँची सिद्धि विनायक मंदिर

कांग्रेस का गढ़ माने जाने वाले उत्तर प्रदेश के अमेठी में राहुल गांधी को हराने के बाद भाजपा की सांसद स्मृति ईरानी ने मुंबई के सिद्धि विनायक मंदिर में दर्शन किए। खास बात थी कि वह मंदिर में दर्शन करने के लिए वे 14 किमी नंगे पैर चलकर गईं।

ज़ी न्यूज़  की रिपोर्ट के अनुसार, स्मृति के साथ उनकी पुरानी दोस्त और फिल्म व टीवी शो निर्माता एकता कपूर भी थीं। स्मृति ने एकता के ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’ से टीवी पर अपनी ‘पसंदीदा बहू’ की पहचान बनाई थी।

एकता कपूर ने मंगलवार को इंस्टाग्राम पर स्मृति की एक फोटो शेयर करने के साथ लिखा, “14 किमी. चलकर सिद्धि विनायक मंदिर पहुंचने के बाद का ग्लो”। इस पर ईरानी ने लिखा, “भगवान की इच्छा है, भगवान दयालु हैं। इसके बाद एकता ने लिखा, “आप दृढ़ इच्छा शक्ति के दम पर अपने जूते के बिना चलीं।”

इससे पहले जब स्मृति ईरानी ने अमेठी में राहुल गांधी को 55,120 वोटों से हराया था तो एकता ने उन्हें राजनीति का महारथी कहा था। साथ ही उन्होंने जीत का जश्न मनाने के लिए अपने ‘क्योंकि सांस भी कभी बहू थी’ धारावाहिक का टाइटल ट्रैक भी लिखा था।

16वीं लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी ने अमेठी में स्मृति ईरानी को एक लाख वोटों से पराजित किया था। इसके बाद स्मृति केंद्रीय मंत्री बनने पर लगातार अमेठी से जुड़ी रही थीं। पिछले पांच साल में उन्होंने अमेठी में जनता के बीच अपनी पैठ बनाई। हालाँकि, राहुल गांधी ने इस बार के लोकसभा चुनाव में परंपरागत सीट से अपनी हार के अंदेशे पर पहले ही वायनाड से जगह सुरक्षित कर ली थी, जो कि एक मुस्लिम बहुल निर्वाचन क्षेत्र माना जाता है।