समाचार
“बालाकोट हवाई हमले में 200 से अधिक मारे गए”- अमेरिकी गिलगित एक्टिविस्ट

गिलगित में रहकर काम करने वाले अमेरिकी कार्यकर्ता सेंगे हसनैन सेरिंग ने दावा किया है कि भारत द्वारा बालाकोट में 26 फरवरी को की गई एयरस्ट्राइक में 200 से अधिक आतंकवादी मारे गए थे और उनके शवों को बालाकोट से खैबर पख्तूनख्वा और आदिवासी इलाकों में ले जाया गया था।

वहीं पाकिस्तान लगातार यह कहता आ रहा है कि बम पेड़ों पर गिरे व उसे कोई नुकसान नहीं हुआ है लेकिन भारतीय वायुसेना ने बताया था कि 80 प्रतिशत बम निशाने पर लगे। सेरिंग ने एक ट्वीट में दावा किया है कि पाकिस्तानी सैन्य अधिकारी ने भी 200 आतंकवादियों के मरने की बात को स्वीकारा है।

सेरिंग द्वारा ट्वीट किए गए वीडियो में पाकिस्तानी अधिकारी ने मारे गए आतंकवादियों को ‘शहीद’ भी कहा और उनके परिवारजनों को दिलासा देते हुए कहा, “अल्लाह मुजाहिद बनने और पाक के लिए दुश्मनों से लड़ने का मौका सबको नहीं देता।”

26 फरवरी को वायुसेना के मिराज 2000 विमानों ने पाकिस्तान सीमा में घुसकर मुजफ्फराबाद, चकोटी और बालाकोट पर हमला किया था जिसके बाद भारतीय मीडिया की कई रिपोर्टों ने 300-350 आतंकवादियों के मारे जाने की सूचना दी थी।

भास्कर  ने बताया कि पाकिस्तान के उर्दू अखबारों में सूचना दी गई थी कि हमले के कुछ घंटों बाद या कुछ दिन बाद कुछ शवों को बालाकोट से खैबर पख्तूनख्वा ले जाया गया।