समाचार
‘पाकिस्तान कभी नहीं करेगा कारगिल जैसी भूल करने की हिम्मत’- जनरल बिपिन रावत

भारतीय सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा, “पाकिस्तान अब भारतीय सीमा में घुसपैठ करने की कभी कोशिश नहीं करेगा। अब ऐसा कोई क्षेत्र नहीं है, जिसकी निगरानी ना की जा रही हो। मुझे नहीं लगता कि पाकिस्तान फिर से ऐसा करने की हिम्मत करेगा क्योंकि उसने पिछली बार ऐसा करने पर परिणाम देखा था।” इसके अलावा उन्होंने यह भी घोषणा की कि सेना जल्द ही प्रस्तावित सुधारों के पहले चरण में अपने मुख्यालय का पुनर्गठन करेगी।

टाइम्स ऑफ इंडिया  की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने कहा, ‘हमें नहीं लगता कि पाकिस्तान कुछ ऐसा (कारगिल) करने का प्रयास करेगा क्योंकि उन्होंने इसके परिणाम देखे हैं। मैं कह सकता हूँ कि आने वाले दिनों और वर्षों में पाकिस्तान किसी भी घुसपैठ की कोशिश करने की हिम्मत नहीं जुटाएगा।

जनरल रावत ने यह भी कहा, “नई दिल्ली में सेना मुख्यालय में बदलाव की योजना का कार्यान्वयन हो रहा है। रक्षा मंत्रालय की मंजूरी मिलने के बाद 229 अधिकारियों का अपने मौजूदा नियुक्तियों से परिचालन पदों पर स्थानांतरित करना शामिल है।

रिपोर्ट में कहा गया था कि सेना मुख्यालय में 20 प्रतिशत अधिकारियों के पुनर्नियोजन के अलावा पुनर्गठन में सैन्य संचालन और रणनीतिक योजना के लिए नए डिप्टी चीफ के पद को बढ़ाना है। साथ ही सतर्कता और मानवाधिकार मुद्दों के लिए नए विंग की स्थापना करना है।

भारतीय सेना ने नए एकीकृत युद्ध समूहों को शुरू करने की योजना बनाई है, जो पाकिस्तान और चीन के साथ सीमाओं के पार तेजी से जुट सकते हैं और उन्हें कड़ा जवाब दे सकते हैं।