समाचार
“लुका-छिपी ज्यादा नहीं चलेगी, ज़रूरत पड़ी तो करेंगे सर्जिकल स्ट्राइक”- जनरल रावत

पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी शिविरों के फिर से पनपने के बाद आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने कहा, “लुका-छिपी का खेल ज़्यादा नहीं चलेगा। भारत पाकिस्तान को जम्मू-कश्मीर के माहौल का दुरुपयोग करने नहीं देगा। अगर इसके लिए नियंत्रण रेखा (एलओसी) भी पार करनी पड़ी तो करेंगे।”

टाइम्स ऑफ इंडिया से हुई बातचीत में जनरल बिपिन रावत ने बालाकोट में आतंकी कैंप के बारे में कहा, “पाकिस्तान आतंकियों को नियंत्रित करता है। ज्यादा वक्त तक यह लुका-छिपी का खेल नहीं चलेगा। अगर सीमा पार जाना पड़ा तो हवाई या थल मार्ग से जाएँगे। रेड लाइन स्पष्ट तरीके से खींची हुई है, जो आगे की कार्रवाई तय करेगी।”

पड़ोसी देश की परमाणु हमले की धमकी के बारे में जनरल ने कहा, “पाकिस्तान का बयान रणनीतिक हथियारों के इस्तेमाल की अनुचित समझ को दर्शाता है। परमाणु युद्ध में लड़ने वाला हथियार नहीं है। क्या कभी विश्व समुदाय आपको इस तरह से इनको इस्तेमाल करने देगा?”

उन्होंने कहा, “5 अगस्त के बाद एलओसी और अंतर-राष्ट्रीय सीमा पर घुसपैठ की कोशिशें बढ़ी हैं। पाकिस्तान कश्मीर में हिंसा बढ़काने के लिए आतंकियों को सीमा पार से भेजने की फिराक में है। हम संदिग्ध गतिविधियों पर निशाना साध रहे हैं। हमारा मकसद घुसपैठ रोकना और कश्मीर में शांति बनाए रखना है।”

कश्मीर के मुद्दे पर बिपिन रावत ने कहा, “यह सच है कि कश्मीर में एक धड़ा अफवाह फैलाने में लगा है कि कश्मीरियों के अधिकार छीने जा रहे हैं। अगर लोग इसका सही विश्लेषण करेंगे तो वे अच्छा-बुरा समझ जाएँगे। वहाँ के लोगों को समझाने की जरूरत है कि जो हो रहा है, वो उनके भले के लिए है। कुछ लोग कह रहे हैं कि स्थिति बदतर हो गई है। मैं उनसे पूछना चाहता हूँ कि क्या पिछले 30 वर्षों से स्थिति बेहतर थी?