समाचार
वर्तमान वित्तीय वर्ष में 7.7% गिर सकती है जीडीपी, अगले वर्ष 11% वृद्धि का अनुमान

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार (29 जनवरी) को संसद में आर्थिक समीक्षा प्रस्तुत की। इस दौरान पूरे वित्तीय वर्ष में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के 7.7 प्रतिशत गिरने का अनुमान है। वहीं, अगले वित्तीय वर्ष 2021-22 में जीडीपी वृद्धि दर 11 प्रतिशत रहने की अपेक्षा है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, 1 फरवरी को प्रस्तुत किए जाने वाले बजट से पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति वेंकट सुब्रमणियम की अगुआई वाली टीम ने 2020-21 की आर्थिक समीक्षा तैयार की। इसमें अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों के साथ आर्थिक वृद्धि को गति देने के लिए किए जाने वाले सुधारों के बारे में बताया गया।

कोविड-19 महामारी के बाद लगाए गए लॉकडाउन से प्रभावित अर्थव्यवस्था के 2021-22 में तेज़ी से उबरने की उम्मीद है। चालू वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर में 23.9 प्रतिशत जबकि दूसरी तिमाही में 7.5 प्रतिशत की गिरावट आई है।

वहीं, राजस्थान शहरी स्थानीय निकाय सुधारों को पूरा करने वाला पाँचवाँ राज्य बन गया है। उसने 2,731 करोड़ रुपये की अतिरिक्त उधार अनुमति प्राप्त की है। शहरी स्थानीय निकाय सुधारों के लिए पाँच राज्यों को अब तक 10,212 करोड़ रुपये की अतिरिक्त उधार की अनुमति दी गई है।