समाचार
काशी में गंगा सफाई- नदी में बार-बार कूड़ा फेंकने पर लगेगा 50,000 रुपये तक जुर्माना

मंदिरों के शहर काशी में अब नदी, तालाबों, नहरों और खुले में कूड़ा फेंकना भारी पड़ सकता है। शहर प्रशासन ने कचरा फेंकते हुए पकड़े जाने पर जुर्माना लगाने का निर्णय लिया है।

हिंदुस्तान टाइम्स  की रिपोर्ट के अनुसार, जिला मैजिस्ट्रेट सुरेंद्र सिंह ने जिला पर्यावरण समिति की एक बैठक में इस बाबत निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा, “अगर कोई पहली बार गंगा और तालाबों में कचरा फेंकता हुआ पाया गया तो 2,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा।”

उन्होंने आगे कहा, इसके बावजूद भी वह व्यक्ति नहीं सुधरता है और दूसरी बार नदी में कचरा फेंकते हुए पकड़ा जाता है तो उस पर 10,000 रुपये का वित्तीय जुर्माना लगाया जाएगा। यदि व्यक्ति तीसरी बार इसे दोहराता है तो उस पर उस पर 50,000 रुपये जुर्माना लगाया जाएगा।”

इसी तरह का जुर्माना नहरों में कचरा फेंकने के लिए भी लगाया जाएगा। इसमें पहली बार में 1,000, दूसरी बार में 20,000 और तीसरी बार में 50,000 के जुर्माने का प्रावधान किया गया है।

इसके अलावा, दुकानदारों पर बाहर खुले में कचरा फेंकने पर 2,000 रुपये का जुर्माना लगेगा। ऐसा दोबारा और तीसरी बार करने पर क्रमश: 5,000 और 25,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। वाराणसी नगर निगम शहर की दुकानों का औचक निरीक्षण करेगा, ताकि दुकानदारों के पास कूड़ा निस्तारण की व्यवस्था हो।