समाचार
आठ मंत्रालयों की संपत्तियों के मुद्रीकरण से केंद्र का ₹2.5 लाख करोड़ जुटाने का लक्ष्य

केंद्र सरकार ने आठ मंत्रालयों की सूची तैयार की है, जिनके पास सड़क, तेल व गैस पाइपलाइन, खेल स्टेडियम, दूरसंचार टावर के साथ बिजली पारेषण और अन्य संपत्तियाँ हैं। इन्हें संपत्ति मुद्रीकरण के माध्यम से वह 2.5 लाख करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य बना रही है।

इसके अतिरिक्त, निजी कंपनियों को 150 ट्रेनों को संचालित करने, दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु व हैदराबाद में भारतीय हवाई अड्डा प्राधिकरण के साथ संयुक्त उपक्रम में चलाए जा रहे हवाई अड्डों की इक्विटी हिस्सेदारी में विनिवेश करने और नई दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम की तरह मैदानों को भी पट्टे पर देने व धनराशि जुटाने की योजना है।

रेल मंत्रालय ने संपत्ति मुद्रीकरण के माध्यम से 90,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बनाई है। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय 7200 किलोमीटर सड़क के मुद्रीकरण की योजना बना रहा है। पावर ग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (पीजीसीआईएल) की प्रसारण संपत्तियों का दो चरणों में मुद्रीकरण करके 2021-22 में 7000 करोड़ रुपये जुटाए जाएँगे।

इसी तरह, खेल एवं युवा मामलों के मंत्रालय ने भी खेल स्टेडियमों के मुद्रीकरण के माध्यम से 20,000 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा है। जहाजरानी पोर्ट एवं जलमार्ग मंत्रालय ने 30 ऐसे क्षेत्रों की पहचान की है, जिनको वह पीपीपी मोड के माध्यम से मुद्रीकरण करने की योजना बना रहा है।