समाचार
‘ऋण बैंक’ से ‘स्वच्छ बैंक’ तक- बजट के दौरान पीयूष गोयल ने सुधारों के बारे में कहा

लोकसभा में सांसदों को संबोधित करते हुए अंतरिम वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने एनडीए सरकार द्वारा बैंकिंग व्यवस्था को सुदृढ़ किए जाने की बात कही। उन्होंने कहा कि सरकार ने न सिर्फ क्लीन (स्वच्छ) बैंकिंग को सुदृढ़ किया है, बल्कि पहले से उपस्थित अनर्जक परिसंपत्ति (एनपीए) संकट का भी निपटारा किया।

गोयल ने बताया कि कैसे बैंकों के पक्ष में 3 लाख करोड़ रुपये अर्जित किए जा चुके हैं और बड़े दोषियों को भी नहीं बक्षा जाएगा। उन्होंने बताया कि वर्तमान सरकार ने संकल्प-सहयोगी तंत्र लाकर अनर्जक ऋणों को भी वापस ले लिया है।

वित्त मंत्री ने 2.6 लाख करोड़ से बैंकों के पुनः पूंजीकरण की बात कही। उन्होंने विश्वास जताया कि बैंकों में सुधार की गति जो अभी धीमी चल रही है, उसे भी जल्द ही पटरी पर लाया जाएगा।