समाचार
गूगल ने समाचार संगठनों के साथ नहीं किया समझौता तो लगा 50 करोड़ यूरो का जुर्माना

टेक दिग्गज गूगल पर फ्रांस के प्रतिस्पर्धा नियामक ने समाचार संगठनों के साथ उनकी सामग्री के उपयोग पर सद्भावपूर्ण वार्ता करने में विफल रहने पर 50 करोड़ यूरो का जुर्माना लगाया है।

बीबीसी ने मंगलवार को बताया कि प्राधिकरण ने गूगल पर ऐसा करने के आदेश को गंभीरता से ना लेने का आरोप लगाया है। इस पर कंपनी ने कहा कि निर्णय एक समझौते पर पहुँचने के हमारे प्रयासों की उपेक्षा करता है।

रिपोर्ट में कहा गया कि यह जुर्माना टेक फर्मों और समाचार संगठनों के बीच वैश्विक कॉपीराइट लड़ाई की हालिया झड़प है। गत वर्ष फ्रांसीसी प्रतिस्पर्धा नियामक ने आदेश दिया था कि गूगल के खोज परिणामों, समाचारों और अन्य सेवाओं में लेखों को दिखाने के लिए समाचार संगठनों के साथ बात करके उसे उनका भुगतान तय करना चाहिए।

ऐसा करने में गूगल विफल रहा। यह कानून तथाकथित पड़ोसी अधिकारों को नियंत्रित करता है, जो प्रकाशकों और समाचार एजेंसियों को उनकी सामग्री के मुफ्त उपयोग के बदले मुआवज़ा देने के लिए बनाया गया है।

गूगल ने फ्रांस में ईयू प्रकाशकों की सामग्री दर्शानी बंद कर दी क्योंकि वह मुफ्त नहीं थी। 2019 में फ्रांस एक नए डिजिटल कॉपीराइट निर्देश को कानून में स्थानांतरित करने वाला पहला यूरोपीय संघ का देश बना।