समाचार
मालवाहक गलियारे पर राजधानी को पीछे छोड़ 99 किमी/घंटे की गति से दौड़ीं मालगाड़ियाँ

पूर्वी समर्पित मालवाहक गलियारे (ईडीएफसी) पर मालगाड़ियों ने शनिवार (29 मई) को 99.38 किमी प्रति घंटे की गति दर्ज की। मनीकंट्रोल की रिपोर्ट के अनुसार, अधिकारियों ने कहा कि मालगाड़ियाँ राजधानी ट्रेनों की तुलना में तेज़ गति से चल रही हैं।

तीन ट्रेनें 99 किमी प्रति घंटे से अधिक की औसत गति से चलीं, जो ईडीएफसी के 331 किलोमीटर लंबे न्यू खुर्जा-न्यू भाऊपुर खंड पर सबसे तेज़ गति है। बता दें इसका उद्घाटन 29 दिसंबर 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था।

डब्ल्यूडीएफसी पर रेवाड़ी और मदार के बीच 306 किलोमीटर के खंड को 7 जनवरी को खोला गया था। अब तक 3000 ट्रेनों ने ईडीएफसी से यात्रा की है, जबकि 1000 ने डब्ल्यूडीएफसी से यात्रा की है।

एक अधिकारी ने कहा, “खंड की कुछ ट्रेनें नियमित रूप से 90 किमी प्रति घंटे की गति प्राप्त कर रही हैं। मालगाड़ियों की गति राजधानी ट्रेनों की तुलना में अधिक है, जो रेल नेटवर्क पर औसतन लगभग 80 किमी प्रति घंटे की गति से चलती हैं।”

29 मई को कोयला भरने के रास्ते में एक खाली ट्रेन ने 99.38 किमी प्रति घंटे की गति से 351 किमी की यात्रा को 3.20 घंटे में पूरा किया। अधिकारियों ने कहा कि उच्च गति अनिवार्य रूप से डीएफसी पर प्रतिबंधों की कमी की वजह से है, जो भारतीय रेलवे नेटवर्क पर आम हैं।