समाचार
ब्रिटिश अदालत ने खारिज की भारत में प्रत्यर्पण के खिलाफ विजय माल्या की अपील
आईएएनएस - 20th April 2020

9,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप में भारत में प्रत्यर्पण आदेश के खिलाफ भगौड़े कारोबारी विजय माल्या द्वारा डाली गई अपील सोमवार को ब्रिटेन की अदालत ने खारिज कर दी।

लंदन की उच्च न्यायालय ने 2018 के फैसले को बरकरार रखते हुए माल्या को भारत वापस भेजने के लिए कहा। अदालत ने कहा कि उन्होंने अपनी कंपनी किंगफिशर एयरलाइंस के 2012 के पतन के लिए कई गलत बयानबाजी की थीं।

पूर्व शराब व्यवसायी ने फरवरी 2020 में एक सुनवाई में भारत में अपने प्रत्यर्पण के खिलाफ उच्च न्यायालय में अपील दायर की थी।

लंदन में रॉयल कोर्ट ऑफ जस्टिस में लॉर्ड जस्टिस स्टीफन इरविन और जस्टिस एलिजाबेथ लिंग की दो सदस्यीय पीठ ने माल्या की अपील को खारिज किया। कोरोनावायरस महामारी के कारण जारी लॉकडाउन के कारण मामले की सुनवाई वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के जरिए हुई।

इस फैसले के बाद माल्या के प्रत्यर्पण पर अंतिम निर्णय का मामला अब ब्रिटेन की गृह सचिव प्रीति पटेल के पास जाएगा।