समाचार
फ्रांस ने गूगल, फेसबुक को भेजा 3 प्रतिशत कर का नोटिस, अमेरिकी जवाबी कार्रवाई संभव

अमेरिकी सरकार के प्रकोप की आशंका के चलते फ्रांस के कर अधिकारियों ने बड़ी तकनीकी कंपनियों को नोटिस भेजकर मांग की कि वे डिजिटल सेवा कर के रूप में लाखों यूरो का भुगतान करें।

गूगल, फेसबुक और अमेज़ॉन उन कंपनियों में से हैं, जिन्होंने फ्रांसीसी अधिकारियों से कर नोटिस प्राप्त किया है। फ्रांसीसी वित्त मंत्रालय इस वर्ष कर से लगभग 50 करोड़ यूरो जुटाने की उम्मीद कर रहा था लेकिन 2021 के बजट बिल में यह आँकड़ा 40 करोड़ ही रह गया।

गत वर्ष जुलाई में फ्रांस ने नए डिजिटल सेवा कर को अनुमति देने वाला कानून पारित किया था। इसमें डिजिटल कंपनियों के फ्रेंच राजस्व पर 3% वार्षिक कर लगाया गया। इसकी वार्षिक वैश्विक बिक्री 84.4 करोड़ डॉलर से अधिक और फ्रेंच राजस्व 2.5 करोड़ यूरो से अधिक है।

अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि रॉबर्ट लाइटहाइजर ने इस पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा, “अमेरिकी कंपनियों को गलत तरीके से लक्षित किया जा रहा है।”

एनबीसी समाचार ने फ्रांसीसी वित्त मंत्री ब्रूनो ले मायेर के हवाले से कहा, “हम दिसंबर के मध्य में डिजिटल कराधान की वसूली करेंगे क्योंकि हमने हमेशा अमेरिकी प्रशासन को समझाया था। हमारा लक्ष्य 2021 के पहले महीनों तक आर्थिक सहयोग और विकास संगठन (ओईसीडी) समझौता करना है। हम आश्वस्त हैं कि डिजिटल कराधान से निपटने का सबसे अच्छा तरीका ओईसीडी के ढांचे के भीतर एक बहुपक्षीय समझौता करना है।”

डिजिटल सेवा कर का संग्रह अटलांटिक समुद्र पार के व्यापार तनाव के उभरने और आने वाले अमेरिकी प्रशासन के लिए चुनौती पैदा कर सकता है। हालाँकि, राष्ट्रपति के रूप में चयनित होने वाले जो बिडेन ने प्रमुख सहयोगियों के साथ संबंधों के पुनर्निर्माण का संकल्प लिया है।