समाचार
“इतना कुछ करने के बाद भी मेरा नाम मीटू में नहीं आया”- मज़ाक में शत्रुघ्न ने कहा
भारतीय जनता पार्टी के नेता और वरिष्ठ कलाकार शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि वे खुद को बहुत भाग्यशाली मानते हैं कि उनका नाम #मीटू आंदोलन में नहीं आया। उनका कहना है, “मैं खुद को बेहद खुशनसीब मानता हूँ कि इतना सब करने का बावजूद भी मेरा नाम #मीटू आंदोलन में नहीं आया, मैं अपनी पत्नी की बात को सुनता हूँ और उन्हें अपनी ढाल बना लेताँहूं ताकि अगर कुछ ना भी हो तो मैं कह सकूँ कि मैं एक खुशहाल वैवाहिक जीवन जी रहा हूँ।”
नए लेखक ध्रुव सोमानी की पुस्तक “आ टच ऑफ इविल” के लॉन्च पर शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि हर सफल आदमी के पीछे एक औरत का हाथ होता है लेकिन आज के #मीटू के ज़माने में हर सफल आदमी को नीचे गिराने के पीछे भी एक औरत का ही हाथ होता है, इंडियन एक्सप्रेस ने रिपोर्ट किया।
हालाँकि बाद में शत्रुघ्न सिन्हा ने खुद को बचाते हुए कहा कि “इस बात को मज़ाक में लिया जाए, यह मात्र एक सादा सा मज़ाक है, मैं उन महिलाओं की हिम्मत की सराहना करता हूँ जिन्होंने निडर हो कर अपनी बात को सामने रखा और खुद के लिए लड़ने का साहस रखा”।