समाचार
बराक ओबामा ने आत्मकथा में राहुल को बताया अयोग्य, मनमोहन को भावशून्य ईमानदार

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपनी आत्मकथा ‘ए प्रॉमिस्ड लैंड’ का मोचन किया। इसमें उन्होंने दुनियाभर के राजनीतिक नेताओं के बारे में बात की। आत्मकथा में कांग्रेस के शीर्ष नेताओं का ज़िक्र अब चर्चा का विषय बन गया है। उन्होंने किताब में राहुल गांधी के बारे में बताया कि उनमें योग्यता और जुनून की कमी है।

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, न्यूयॉर्क टाइम्स ने किताब की समीक्षा की। बराक ओबामा ने बताया, “कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी में एक ऐसे घबराए हुए और अनगढ़ छात्र के गुण हैं, जो अपने शिक्षक को प्रभावित करने की पूरी कोशिश करते हैं लेकिन उनमें विषय (राजनीति) में महारत हासिल करने की योग्यता और जुनून की कमी है।” उन्होंने राहुल को हताश और बेडौल गुणवत्ता वाला भी बताया।

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का भी उल्लेख किया। समीक्षा में कहा गया, “हमें चार्ली क्रिस्ट और रहम एमैनुएल जैसे पुरुषों के हैंडसम होने के बारे में बताया जाता है लेकिन महिलाओं के सौंदर्य के बारे में नहीं। सिर्फ एक या दो उदाहरण ही अपवाद हैं जैसे सोनिया गांधी।”

समीक्षा में कहा गया कि अमेरिका के पूर्व रक्षा मंत्री बॉब गेट्स और भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह दोनों में बिल्कुल भावशून्य ईमानदारी है। कहा गया कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ओबामा को शिकागो मशीन चलाने वाले मजबूत, चालाक बॉस की याद दिलाते हैं।

आत्मकथा में पुतिन के बारे में ओबामा कहते हैं, “शारीरीक रूप से वह साधारण हैं।” ओबामा का 768 पन्नों का यह संस्मरण 17 नवंबर को बाज़ार में आने वाला है। अमेरिका के पहले अफ्रीकी-अमेरिकी राष्ट्रपति ने अपने कार्यकाल में दो बार 2010 और 2015 में भारत की यात्रा की थी।