समाचार
अपने अधिकारियों की गिरफ्तारी के बाद सर्वोच्च न्यायालय की ओर सीबीआई

कोलकाता के पुलिस कमिशनर पाजीव कुमार के निवास पर अपने अधिकारियों के नज़रबंद किए जाने पर आज (4 फरवरी को) केंद्रीय जाँच ब्यूरो (सीबीआई) सर्वोच्च न्यायालाय का द्वार खटखटाएगा। सीबीआई ने दावा किया था कि पश्चिम बंगाल पुलिस शारदा चिट फंड घोटाले की जाँच में उनका सहयोग नहीं कर रही है।

सीबीआई के अंतरिम निदेशक एम नागेश्वर राव ने रविवार (3 फरवरी) को को कहा कि पश्चिम बंगाल पुलिस के असहयोगी रवैये को लेकर यह सर्वोच्च न्यायालय का द्वार खटखटाएगी। न्यायालय ने इस याचिका को स्वीकार करते हुए कल (5 फरवरी) को सुनवाई की तारीख दी है।

इससे पूर्व संध्या (3 फरवरी) को कोलकाता में उच्च स्तरीय नाटकीय घटनाएँ हुईं जब चिट फंड घोटाले की जाँच करते हुए कमिशनर राजीव कुमार के घर सीबीआई अधिकारियों के पहुँचने के बाद कोलकाता पुलिस सीबीआई मुख्यालय पहुँच गई। पुलिस दल के जाने के बाद सीआरपीएइफ स्क्वाड को राज्य मुख्यालय भेजा गया। हालाँकि कोलकाता पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए सीबीआई अधिकारियों को छोड़ दिया गया था।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी इस घटनाक्रम में अुनी उपस्थिति दर्ज की और कोलाकाता पुलिस के प्रमुख, जो पहले फरार चल रहे थे, व अन्य के साथ ‘संविधान बचाओ’ धरने पर बैठ गईं।