समाचार
रविशंकर प्रसाद ने आर्थिक मंदी को फिल्मों की कमाई से जोड़ने वाला बयान वापस लिया
आईएएनएस - 14th October 2019

देश में आर्थिक मंदी को नकारने के लिए सिनेमा बॉक्स-ऑफिस कलेक्शन का हवाला देने वाले केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने अपना बयान वापस ले लिया है। रविशंकर ने साफ किया, “मैंने यह बयान मुंबई में दिया था, जो भारत की फिल्म राजधानी है। यह शहर लाखों लोगों को रोजगार प्रदान करता है और करों के माध्यम से भी महत्वपूर्ण योगदान देता है।”

शनिवार को मुंबई में एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद से आर्थिक मंदी पर सवाल पूछा गया। इस पर उन्होंने कहा, “मैं पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में सूचना और प्रसारण मंत्री था और मुझे फिल्मों का शौक है। फिल्में बहुत बड़ा कारोबार करती हैं। तीन फिल्में 2 अक्टूबर को रिलीज हुई थीं। फिल्म समीक्षक कोमल नाहटा ने मुझे बताया कि राष्ट्रीय छुट्टी पर उन फिल्मों ने 120 करोड़ रुपये कमाए थे। अगर 120 करोड़ रुपये एक देश में आता है, तो यह एक अच्छी अर्थव्यवस्था है।”

भाजपा नेता की टिप्पणी पर पलटवार करते हुए कांग्रेस ने इसे गैर-सूचित और असंवेदनशील करार दिया। कांग्रेस के सोशल मीडिया पर पलटवार के बाद यह मुद्दा ट्विटर पर ट्रेंड करने लगा था।

इसके बाद रविवार को रविशंकर प्रसाद ने कहा, “एक संवेदनशील व्यक्ति होने के नाते मैं इस टिप्पणी को वापस लेता हूँ।” उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि पूरे मामले का गलत आशय निकालकर उसे तूल दिया गया है। मंत्री के कार्यालय द्वारा जारी बयान में कहा गया, “मुंबई में कल की गई मेरी टिप्पणी तीन फिल्मों के बारे में थी, जिन्होंने एक दिन में 120 करोड़ रुपये कमाए थे, जो अब तक का सबसे सटीक तथ्य है।”