समाचार
जेएनयू बवाल- आइशी घोष और 19 छात्रों पर एफआईआर, फॉरेंसिक टीम भी पहुँची

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में छात्रों पर हुए हमले के मामले छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष और 19 छात्रों के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने मामला दर्ज किया है। उधर, फॉरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला (एफएसएल) की एक टीम भी मंगलवार को जेएनयू पहुँची है। यह टीम जेएनयू में 5 जनवरी को हुई हिंसा की जाँच में सहयोग करेगी।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, 4 जनवरी को जेएनयू के सर्वर रूम में तोड़फोड़ और सुरक्षा कर्मियों पर हुए हमले के आरोप में ये मामले दर्ज किए गए हैं। एफआईआर विश्वविद्यालय प्रशासन ने 5 जनवरी को दर्ज कराई थी। कहा जा रहा है कि एफआईआर के आरोपी कॉलम में अन्य छात्रों के नाम शामिल नहीं किए गए हैं। हालाँकि डिटेल में उनका नाम दर्ज किया गया है।

जेएनयू में छात्रावास फीस बढ़ोतरी का विरोध कर रहे छात्रों ने शुक्रवार (3 जनवरी ) को सर्वर रूम बंद कर दिया था। विश्वविद्यालय प्रशासन का कहना था कि ऐसा करने वाले छात्रों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि विश्वविद्यालय के तीन हॉस्टलों में 5 जनवरी की शाम को जमकर बवाल हुआ था। कई छात्रों को पीटा गया और तोड़फोड़ की गई। छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष पर भी हमला हुआ था और उन्हें सिर पर चोटें आईं। अभी तक हमलावर पकड़ में नहीं आ सके हैं।