समाचार
वारिस पठान के “100 करोड़ हिंदुओं पर 15 करोड़ मुसलमान भारी” बयान पर मामला दर्ज

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के राष्ट्रीय प्रवक्ता और महाराष्ट्र के पूर्व विधायक वारिस पठान के विवादित बयान को लेकर उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। उन्होंने हाल ही में देश के 100 करोड़ हिंदुओं पर 15 करोड़ मुसलमानों के भारी पड़ने की बात कही है।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, वारिस पठान के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 117, 153 (दंगा भड़काने के इरादे से उकसाना) और 153ए (विभिन्न समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देना) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

कर्नाटक के गुलबर्गा में नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के विरोध में आयोजित रैली में उन्होंने यह भड़काऊ भाषण दिया था। इसका एक वीडियो भी वायरल हुआ है। उसमें पठान को यह कहते सुना जा सकता है, “वे हमारे फायरब्रांड भाषणों का मुकाबला नहीं कर सकते हैं। हमने सीखा है कि एक ही सिक्के से ब्याज के साथ कैसे भुगतान किया जाता है।”

उन्होंने आगे कहा, “आजादी लेनी पड़े और जो चीज़ मांगने से नहीं मिलती, उसे छीनकर लेना पड़ता है।” सीएए विरोध प्रदर्शन में मुस्लिम महिलाओं की भागीदारी पर भी उन्होंने कड़वे बोल बोले। कहा, “अब तक हमने केवल अपनी शेरनियाँ बाहर भेजी हैं और आप पहले से ही पसीना बहा रहे हैं। अब सोचें कि अगर हम सब एकसाथ आएँगे तो क्या होगा।”

वीडियो के अंत में उन्होंने कहा, “हम 15 करोड़ हैं पर 100 करोड़ के ऊपर भारी हैं, यह याद रखना। बता दें कि 2016 में भारत माता की जय नारा लगाने से मना करने पर वारिस पठान को महाराष्ट्र विधानसभा से निलंबित कर दिया गया था।