समाचार
एफबीआई को संदेह- अमेरिकी मुस्लिम सांसद ने ग्रीन कार्ड के लिए की भाई से शादी

संघीय जाँच ब्यूरो (एफबीआई) कथित तौर पर इस बात की जाँच कर रही है कि क्या अमेरिकी मुस्लिम सांसद इल्हान उमर ने अपने भाई से शादी कर अमेरिका में उसके आप्रवासन के लिए सुविधा प्रदान की थी।

पूर्व सोमाली शरणार्थी और अमेरिकी कांग्रेस में चुनकर आने वाली पहली दो मुस्लिम महिलाओं में से एक, इल्हान उमर को अक्सर आतंकवाद की निंदा से बचने या आतंकवाद के प्रति सहानुभूति रखने के लिए और इस्लामिक समूहों द्वारा किए गए अत्याचार की आलोचना पर अनिच्छा के लिए निशाना बनाया जाता है। उमर को कई बार यहूदी विरोधी बयानों के लिए आलोचनाओं के घेरे में भी आना पड़ा।

न्यूयॉर्क पोस्ट की एक रिपोर्ट के अनुसार एफबीआई के दो एजेंटों ने अक्टूबर के मध्य में मिनन्सोट में एक व्यक्ति का साक्षात्कार लिया था जिसे इस मामले का काफी ज्ञान था। कहा जाता है कि इस व्यक्ति ने जाँच एजेंसी को 2009 में उमर और अहमद नूर सईद एल्मी के विवाह से संबंधित कई अहम दस्तावेज उपलब्ध कराए थे।

दोनों एजेंट अमेरिकी अप्रवासन एवं सीमा प्रवर्तन और अमेरिकी शिक्षा विभाग के साथ जानकारी साझा करने के लिए तैयार हैं। आरोप सामने आए हैं कि उमर ने अपने भाई को ग्रीन कार्ड दिलाने में सहायता के लिए एल्मी (अब एक ब्रिटिश नागरिक) से शादी की थी।

एल्मी से शादी करने से पहले, उमर की 2002 में अहमद हिरसी से सगाई हुई थी। विवादास्पद सांसद का कहना है कि उन्होंने कानूनी तौर पर हिरसी से शादी नहीं की। उमर और हिरसी 2008 में अलग हो गए लेकिन 2012 में फिर एक हो गए बावजूद इसके की उमर 2017 तक कानूनी तौर पर एल्मी से विवाहित थीं।

अमेरिकी कानून के तहत शादी की धोखाधड़ी के लिए दोषी पाए जाने पर 250,000 डॉलर का जुर्माना, साथ ही पाँच साल की जेल हो सकती है।