समाचार
निकिता हत्याकांड के दोनों दोषियों तौसीफ और रेहान को आजीवन कारावास की सज़ा

फरीदाबाद में निकिता हत्याकांड के दोषी साबित हुए तौसीफ और उसके दोस्त रेहान को फास्ट ट्रैक कोर्ट ने शुक्रवार (26 मार्च) को आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई है। दोनों दोषियों को कड़ी सुरक्षा के बीच में न्यायालय में पेश किया गया। इस दौरान पूरे न्यायालय परिसर को छावनी में परिवर्तित कर दिया गया था।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, सज़ा सुनाए जाने के बाद निकिता के पिता मूलचंद तोमर ने कहा, “हम न्यायालय के निर्णय का स्वागत करते हैं लेकिन हम दोषियों को फाँसी की सज़ा दिलाने के लिए सर्वोच्च न्यायालय तक जाकर लड़ाई लड़ेंगे।” निकिता की माँ ने भी कहा कि दोनों दोषियों को मौत की सज़ा ही दी जानी चाहिए।

बुधवार (24 मार्च) को फास्ट ट्रैक कोर्ट ने निकिता हत्याकांड के मामले में दोनों आरोपियों को दोषी करार दिया था। हत्याकांड में प्रयोग किए गए हथियार को तौसीफ को देने वाले तीसरे आरोपी अज़हरुद्दीन को बरी कर दिया था। मामले में पीड़ित पक्ष की ओर से 55 लोगों की गवाही हुई थी, जबकि बचाव पक्ष की ओर से सिर्फ दो लोगों की गवाही हुई थी।

बता दें कि फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में 21 वर्षीय कॉलेज छात्रा निकिता तोमर की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। यह घटना 26 अक्टूबर को हुई थी, जब निकिता एक परीक्षा देने के बाद अपने कॉलेज परिसर से बाहर आई थी। वह बीकॉम अंतिम वर्ष की छात्रा थी। आरोपी तौसीफ अपने दोस्त रेहान के साथ मिलकर छात्रा को अगवा करने की कोशिश में थे। छात्रा ने जब विरोध किया तो उसे गोली मार दी गई।