समाचार
फर्रुखाबाद- 23 बच्चों को बंधक बनाने वाला मुठभेड़ में ढेर, पिटाई से पत्नी की मौत

उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद में हत्या के आरोपी ने गुरुवार को 23 बच्चों को घर में आठ घंटे तक बंधक बनाए रखा। बच्चों को छुड़ाने के लिए आए गाँववालों, पुलिस और एटीएस पर उसने गोलियाँ बरसाईं, जिसमें दो पुलिसकर्मी घायल हो गए। आरोपी ने हथगोले भी फेंके। देर रात ग्रामीणों के साथ मिलकर पुलिस ने अभियान चलाया और आरोपी को मुठभेड़ के दौरान ढेर कर दिया।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, मुठभेड़ में आरोपी के मारे जाने के बाद आक्रोशित गाँववालों ने उसकी पत्नी को बुरी तरह पीट दिया। पुलिसकर्मियों ने घायल अवस्था में उसे छुड़ाकर अस्पताल में भर्ती करवाया, जहाँ इलाज के दौरान उसकी भी मौत हो गई। सभी बच्चे सुरक्षित निकाल लिए गए हैं, जिनका चिकित्सकीय परीक्षण किया गया। आरोपी की बेटी को एक ग्रामीण के सुपुर्द किया गया है।

फर्रुखाबाद के करथिया गाँव में जमानत पर बाहर आए बाथम ने बेटी के जन्मदिन के बहाने बच्चों को घर पर बुलाया। फिर सभी को एक भूमिगत कमरे में बंद कर दिया। इसके बाद वह नशे में छत पर चढ़ गया और कहने लगा कि अगर उसे पुलिस पकड़ने आई तो नतीजा गंभीर होगा।

बच्चों को छुड़ाने आई पुलिस टीम पर उसने गोलियाँ चलाईं। पुलिस ने आरोपी बाथम के दोस्त को उसे मनाने के लिए भेजा लेकिन उसने उसे भी गोली मार दी। आरोपी ने छह बार फायरिंग की ओर घर के बाहर हथगोला भी फेंका। उसने 35 किलो बारूद से घर को उड़ाने की धमकी भी दी थी।

देर रात एनएसजी कमांडो का एक दस्ता गाँव रवाना हुआ था लेकिन इससे पहले आक्रोशित ग्रामीणों की मदद से पुलिस व एटीएस ने अभियान शुरू कर दिया। ग्रामीणों ने लाठी, डंडों और पत्थरों से आरोपी के घर का दरवाजा तोड़ दिया। इस पर आरोपी ने फायरिंग की, जिसमें पुलिस की जवाबी फायरिंग में वह मारा गया।