समाचार
श्रीनगर में ‘भारत माता की जय’, फारूक़ अब्दुल्लाह को मंदिर में नहीं मिला प्रवेश

नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक़ अब्दुल्लाह को आज (13 जून को) श्रीनगर के कश्मीरी पंडितों ने रोका और उन्हें ज्येष्ठा देवी मंदिर के अंदर भी घुसने नहीं दिया गया, इंडिया टुडे  ने रिपोर्ट किया।

जब अब्दुल्लाह मंदिर पहुँचे तो आलोचक नारेबाज़ी से उनका स्वागत हुआ। लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा समर्थक नारे भी लगाए। मंदिर में उपस्थित कश्मीरी पंडितों का मानना था कि अब्दुल्लाह के कारण ही उन्हें इतनी यातनाएँ सहनी पड़ीं।

एक वार्षिक पर्व के लिए मंदिर में जमा हुए कई कश्मीरी पंडितों ने ‘मोदी-मोदी’ और ‘भारत माता की जय का उद्घोष किया’। कुछ मीडिया रिपोर्टों में अब्दुल्लाह से धक्का-मुक्की की बात भी सामने आई है।

अब्दुल्लाह मंदिर में प्रवेश करना चाहते थे लेकिन उन्हें बिना प्रार्थना किए ही वापस लौटना पड़ा। उन्होंने लोगों को शांत करने का प्रयास किया लेकिन असफल रहे। वे लोगों को संबोधित करना चाहते थे लेकिन लोगों ने उनकी बातों को अनसुा कर दिया।