समाचार
यासीन मलिक की गिरफ्तारी से आहत हुए अब्दुल्ला, कहा “यह भारतीय तरीका नहीं”

वरिष्ठ नेता व नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी) के अध्यक्ष फारूक़ अब्दुल्ला ने राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (एनआईए) द्वारा अलगाववादी नेती यासीन मलिक के हिरासत में लिए जाने की निंदा की। यासीन पर हवाला लेन-देन जैसे अवैध तरीकों से फंड लेने और जमा करके जम्मू-कश्मीर में अलगाववादी व आतंकवादी गतिविधियों को फंड करने का आरोप है।

यासीन मलिक जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) का प्रमुख है जिसपर पिछले माह ही केंद्र सरकार ने अवैध गतिविधियों को रोकने के अधिनियम के तहत प्रतिबंध लगाया था।

अब्दुल्ला ने उसकी गिरफ्तारी पर शोक जताते हुए मलिक का बचाव करते हुए कहा कि ऐसे लोगों की गिरफ्तारी से घाटी में तनाव बढ़ेगा। इसके साथ उन्होंने यह भी कहा, “मतभेद हो सकते हैं लेकिन इससे आपसे अलग विचार रखने वाले को गिरफ्तार करने का अधिकार नहीं मिल जाता। यह भारतीय तरीका नहीं है।”

इससे पहले अनुच्छेद 370 व 35ए के हटने की बात पर भड़काऊ बयान देने पर वे सुर्खी में रहे थे और इसके लिए दिल्ली उच्च न्यायालय ने उनपर जनहित याचिका भी दायर की जा चुकी है। इस मामले पर सुनवाई 12 अप्रैल को होगी।