समाचार
अपना दावा स्पष्ट करने के लिए पाकिस्तान पुराने वीडियो का कर रहा है उपयोग

दो भारतीय लड़ाकू जेटों को गिराने के अपने दावे को स्पष्ट करने के लिए पाकिस्तान पुराने वीडियो का उपयोग कर रहा है, सोशल मीडिया पर कई सुरक्षा विशेषज्ञों ने बताया। यह अंतर-सुविधा जनसंपर्क द्वारा प्रचार के बाद आया जिसमें उन्होंने कहा है कि उन्होंने भारतीय वायुसेना के दो विमानों को गिराया और एक विमान के पाइलट को बंदी बना लिया।

पहला वीडियो जो पाकिस्तान ने निकाला है, रिपोर्टों का दावा है कि वह मिग-27 का है जो 2016 में जोधपुर में क्रैश हुआ था। पाकिस्तान द्वारा जारी किए गए वीडियो में विमान के टोल नंबर टीयू657 है और 2016 में यही विमान क्रैश हुआ था।

भारतीय पाइलट की गिरफ्तारी के संबंध में जो विडियो जारी किया गया है, वह सूर्यकिरण के पाइलट विंग कमांडर विजय शेलके का है जिनका विमान इसी वर्ष 19 फरवरी को एयरो शो के अभ्यास के दौरान दुर्घटनाग्रस्त हुआ था।

सिर्फ इतना ही नहीं, पाकिस्तान ओडिशा के मयूरभंज में क्रैश हुए हॉक ट्रेनर का भी उपयोग कर रहा है।

पाकिस्तान के इस दावे पर अभी तक ोभारतीय वायुसेना ने कुछ नहीं किया है।