समाचार
एनआरआई के पोस्टल बैलट से मतदान के लिए चुनाव आयोग के पक्ष में विदेश मंत्रालय

एक महत्वपूर्ण विकास में विदेश मंत्रालय ने चुनाव आयोग को यह कहते हुए पत्र लिखा है कि वह गैर-निवासी भारतीयों (एनआरआई) को इलेक्ट्रॉनिक रूप से प्रेषित पोस्टल बैलट सिस्टम (ईटीपीबीएस) के माध्यम से दूर से मतदान करने की अनुमति देने के पोल पैनल के प्रस्ताव के पक्ष में है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, यह विकास तब आया, जब चुनाव आयोग ने गत वर्ष 27 नवंबर को चुनाव आचार संहिता, 1961 में जल्द संशोधन करने का प्रस्ताव रखा था, ताकि भारतीय मतदाताओं को डाक मतपत्रों के माध्यम से मतदान करने में सक्षम बनाया जा सके।

चुनाव आयोग ने 27 नवंबर को विधि सचिव को लिखे अपने पत्र में कहा था कि वे तकनीकी और प्रशासनिक रूप से आने वाले चुनावों में पश्चिम बंगाल, असम, तमिलनाडु, पुदुचेरी और केरल की विधानसभाओं में सुविधा का विस्तार करने के लिए तैयार हैं।

अगर प्रस्ताव पास होता है तो अप्रवासी भारतीय अपने देश से वोट डालने में सक्षम होंगे। वर्तमान में एनआरआई के पास भारत में अपने संबंधित निर्वाचन क्षेत्रों में व्यक्तिगत रूप से वोट डालने का कोई अन्य विकल्प नहीं है।

वर्तमान में ईटीपीबीएस सुविधा सशस्त्र बलों और अर्ध-सैन्य बलों में काम करने वाले मतदाताओं के लिए उपलब्ध है। यह सुविधा सरकारी कर्मचारियों के लिए भी उपलब्ध है, जो विदेश में सेवा कर रहे हैं।