समाचार
रूस की स्पुतनिक-वी भारत में उपयोग की अनुमति पाने वाली तीसरी वैक्सीन बनी

भारत को सोमवार (12 अप्रैल) को कोविड-19 की एक और वैक्सीन के रूप में रूस की स्पुतनिक-वी के उपयोग की अनुमति मिल गई है। हालाँकि, इसकी आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। अब शाम तक केंद्र सरकार द्वारा इस पर स्थिति स्पष्ट कर दी जाएगी।

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, कहा जा रहा है कि अभी वैक्सीन का परीक्षण डाटा ही पेश किया गया है, जिसके आधार पर विषय विशेषज्ञ समिति (एसईसी) ने रूस की स्पुतनिक-वी को अपनी स्वीकृति दे दी है।

हैदराबाद की डॉ रेड्डी के सहयोग से स्पुतनिक-वी ने भारत में 1600 उम्मीदवारों पर 3 क्लिनिकल परीक्षण किए हैं। स्पुतनिक वी को -18 डिग्री सेल्सियस तापमान में रखने की आवश्यकता है। बता दें कि भारत में इसके आपातकालीन उपयोग की स्वीकृति मांगी गई थी।

रूसी वैक्सीन की सफलता 91.6 प्रतिशत रही है, जो कंपनी ने अपने परीक्षण के आँकड़ों को जारी करते हुए कही है। रूस का आरडीआईएफ हर साल भारत में 10 करोड़ से अधिक स्पुतनिक-वी की खुराक बनाने के लिए करार कर चुका है।