समाचार
महाराष्ट्र में चौथी कक्षा की किताबों से छत्रपति शिवाजी का इतिहास हटाने पर विवाद

महाराष्ट्र अंतर्राष्ट्रीय शिक्षा बोर्ड (एमआईईबी) की चौथी कक्षा की किताबों से छत्रपति शिवाजी महाराज के बहिष्कार को लेकर महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों से पहले विवाद पैदा हो गया है।

द इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, महाराष्ट्र राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एमएससीईआरटी) के अधिकारी इसे गलतफहमी बता रहे हैं। उनका कहना है कि शिवाजी महाराज को पाठ्यक्रम से बाहर करने का जानबूझकर प्रयास नहीं किया गया है।

एमएससीईआरटी के उप-निदेशक विकास गर्द ने कहा, “इस मुद्दे पर कुछ गलतफहमी और आधी जानकारी मिली है। राज्य बोर्ड पाठ्यक्रम की पुस्तकों से छत्रपति शिवाजी महाराज पर अध्याय को हटाने का कोई प्रयास नहीं किया गया है।”

उन्होंने कहा, “कक्षा पाँच में इतिहास पर विषय होंगे। इसमें प्राचीन व मध्ययुगीन इतिहास पर जोर दिया जाएगा। कक्षा छह से शिवाजी महाराज पर एक विस्तृत इतिहास पाठ्यक्रम का हिस्सा होगा।”

पूर्व शिक्षा शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े ने कहा, “इसका उद्देश्य छात्रों को छत्रपति शिवाजी महाराज के बारे में संपूर्ण शिक्षा सामग्री प्रदान करना है, जिससे विद्यार्थियों को विषय की बेहतर समझ होगी।”